Secondary Education Department Haryana...

Indian Army Official Website...

Indian Navy Official Website...

Indian Airforce Official Website...

Haryana Staff Selection Commision Official Website...

जिला मुख्यालय हमारा हक हम लेकर रहेंगे -कुलदीप यादव

टैलकोमीडिया न्यूज : महेंद्रगढ़ सरताज जनसेवा ग्रुप के PRO कुलदीप यादव आज बार एसोसिएशन के धरने को समर्थन देते हुय कहा कि  महेंद्रगढ जिला  हरियाणा के अस्तित्व के समय के साथ बना था लेकिन राजनीतिक द्वेष मे पिछडता गया  सभी राजनेताओ ने सिर्फ यहा पर अपनी राजनैतिक रोटीया सेकने का काम किया  और  राज करते रहे.महेंद्र गढ़ कि जो आज ये हालत है  उसमे सभी राजनेता और राजघराने  जिम्मेदार है जिन्होंने आज तक यहाँ राज किया .  दक्षिण हरियाणा के कद्दावर नेताओ से लेकर छोटे नेता विधायक मंत्री  जिन्होंने सिर्फ राज किया आज इतने वर्षो के बाद भी महेंद्रगढ मुलभुत सुविधाओ से वंचित है.सडक शिक्षा  स्वास्थ्य सुविधाएं शून्य है । अगर हम बात विधायक  दानसिह कि करें  जो मुख्यमंत्री जी के नजदीकी थे  और 10 साल राज किया लेकिन महेंद्रगढ को उनका हक नही दिला सके. 

रामबिलास शर्मा जी हरियाणा भाजपा के बहुत बडे नेता है  मुख्यमंत्री से लेकर प्रधान मंत्री तक के नजदिकी हैं  लोकिन यहा भी हमे निराशा  हाथ लगी है .रामबिलास शर्मा छूठ बोलने की मशीन है और पिछले 45 साल से महेंद्रगढ़ की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे है.  इन दोनों नेताओं ने हक दिलाने कि तो बात ही अलग है एक बार भी इस मुद्दे को विधानसभा में उठाने का काम नहीं किया.उन्होंने कहा की अब महेंद्रगढ़ का युवा जाग चूका है और अपना हक लेना जानता है अब ये लड़ाई यहां  का  युवा सवयं लड़ेगा. कुलदीप यादव ने कहा ज़ब तक सरकार इस मांग को पूरा नही करेगी ये संघर्ष जारी रहेगा।

महेंद्रगढ़ जिले का नाम बदलने की साजिश दुर्भाग्यपूर्ण, सरकार इस निर्णय को ले वापिस नही तो होगा आंदोलन- कुलदीप यादव।

सरताज जनसेवा ग्रुप के PRO कुलदीप यादव ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुय कहा कि महेंद्रगढ़ जिले का नाम बदलने की साजिश दुर्भाग्यपूर्ण है  । महेंद्रगढ़ जिला जब हरियाणा प्रदेश का जन्म हुआ तब से है।यह केवल एक साजिश के तहत महेंद्रगढ़ जिले का नाम बदला जा रहा है, महेंद्रगढ़ मे जिला मुख्यालय के लिए हमने लगातार संघर्ष करके धरना प्रदर्शन किया , हम अपने महेंद्रगढ़ के मान सम्मान लिए  संघर्ष के लिए तैयार हैं लेकिन यह साजिश कामयाब नहीं होने देंगे।लगातार महेंद्रगढ़ के जनप्रतिनिधियों को व नेताओं को हमने ज्ञापन के जरीये पुरे मामले से पहले भी अवगत करा चुके है। लेकिन कमजोर जनप्रतिनिधित्व के कारण हमारे साथ लगातार साजिश हो रही है। जिला मुख्यालय के मुद्दे पर तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं ने विधानसभा चुनाव में समाधान  करवाने का वादा किया था ।

उपमुख्यमंत्री जी श्री दुष्यंत चौटाला जी ने यादव धर्मशाला मे एक कार्यकर्ता सम्मेलन में महेंद्रगढ़ के जिला मुख्यालय की समस्या को उनकी सरकार बनने पर  समाधान का वादा किया था , लेकिन वो अपने वादा से मुकरते नजर आ रहे है ।वही उन्होंने 5 नवम्बर को खुद विधानसभा में ये बाद कहि थी कि सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है जबकि विभाग के द्वारा 30 जुलाई 2020 ,15 सितम्बर 2020 ओर अब विधानसभा से कुछ दिन पहले  29 अक्टूबर 2020 को जिला उपायुक्त को पत्र जारी कर रिपोर्ट मांगना ये दर्शाता है कि स्वयं मुख्यमंत्री जी झूठ बोलकर महेन्द्रगढ़ की जनता को गुमराह करते रहे ।इसके साथ साथ वर्तमान विधायक ओर पूर्व विधायक ऐसा न होने का दावा करके अपने समर्थकों से गुणगान करवाते रहे और  यहां की जनता को गुमराह करते रहे ।

कुलदीप यादव ने कहा कि हम सरकार से निवेदन करते है  जल्द से जल्द इस निर्णय को वापिस लिया जाए और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला महेन्द्रगढ़ की जनता से माफी मांगे ।अगर ऐसा नही होता है तो महेन्द्रगढ़ की जनता के साथ मिलकर जल्द ही एक बड़ा आंदोलन करेंगे ।

युहीं नहीं लिखा जा रहा बार बार महेंद्रगढ़ जिले के नाम की जगह नारनौल ! चल रहा अंदर ही अंदर बड़ा खेल

लगभग 6 महीने से जब भी किसी स्थान विशेष का सरकार उद्धघाटन करती है तो वहाँ महेन्दरगढ़ जिले के नाम की जगह नारनौल लिखा जाता है फिर कुछ सामजिक संस्थायें और आम लोग इसका विरोध करते है तो नाम बदल कर नारनौल की जगह महेंद्रगढ़ कर दिया जाता है ।ये कोई मामूली भूल चूक नहीं रही है दर्शल ये एक खेल खेला जा रहा है महेंद्रगढ़ जिले की जनता के साथ जिसका पर्दा गिरा है इस सरकारी पत्रके सोशल मीडिया में वायरल होने से